HomeलखनऊLucknow news- विशेष सदन में महिला पार्षदों ने किए तीखे सवाल, व्यवस्था...

Lucknow news- विशेष सदन में महिला पार्षदों ने किए तीखे सवाल, व्यवस्था को दिखाया आईना

बेबाक…। बिंदास…। बेमिसाल…। नगर निगम के इतिहास में रविवार का दिन खास रहा। मौका था महिला पार्षदों के लिए बुलाए गए विशेष सदन का।

महिला पार्षदों ने भी अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस के उपलक्ष्य में बुलाए गए इस विशेष सदन में आधी आबादी के मुद्दे को धार देने में कोई कोर कसर नहीं रखी। तीखे सवाल किए।

…तो व्यवस्था को आईना भी दिखाया। करीब तीन घंटे तक चली कार्यवाही के दौरान ऐसे-ऐसे सवाल उठाए कि अफसर निरुत्तर हो गए। बगलें झांकने लगे।

महिलाओं की सुरक्षा और सम्मान को लेकर सभी पार्षद मुखर नजर आईं। इस्माइलगंज वार्ड की पार्षद अमिता सिंह ने सदन में स्ट्रीट लाइटें खराब होने का मुद्दा उठाया।

उन्होंने कहा- इससे महिलाओं-लड़कियों को रात में खतरा है। इस पर नगर आयुक्त ने कहा कि यह पूरे प्रदेश की समस्या है।

ईईएसएल वाले भुगतान न होने के कारण काम अटका रहे थे, मगर अब ऐसा नहीं होगा। इस पर पार्षद ममता चौधरी बोल पड़ीं- नगर आयुक्तजी आप कह रहे हैं कि ईईएसल काम करेगी, पर कब करेगी कुछ समय तो बताइए?

यदि किसी महिला या लड़की के साथ अनहोनी हो जाए तो कौन जिम्मेदार होगा? नगर निगम या ईईएसएल? इसका कोई जवाब नहीं आया।

यदुनाथ सान्याल वार्ड की पार्षद सुनीता सिंघल ने कहा कि नगर अभियंता कहते हैं कि कसाई बाड़ा में बहुत गंदगी है, हम नहीं जा सकते। सोचो, जब आप नहीं जा सकते तो वहां लोग रहते कैसे होंगे?

नगर अभियंता एसपी तिवारी ने कहा कि उनके कहने का गलत अर्थ लगाया गया। वह खुद पार्षद प्रतिनिधि के साथ कसाई बाड़ा का दौरा करने गए थे, वहां खुले में जानवर कट रहे थे।

इस बीच मालवीय नगर वार्ड की पार्षद ममता चौधरी ने एक और सवाल दाग दिया कि क्या खुले में जानवर काटने का नियम है? यदि नहीं तो कार्रवाई क्या हुई? इस पर अधिकारी मौन हो गए।

रेखा तो सीधी पार्षद हैं वरना दूसरा थाने में ही पेट्रोल लेकर बैठ जाता

आलमनगर वार्ड की पार्षद रेखा सिंह ने आरोप लगाया कि पारा पुलिस ने उन्हें और उनके पति को काफी परेशान किया। हादसे के लिए जिम्मेदारों को छोड़कर उनके पति को लॉकअप में डाल दिया था। उन्होंने थानेदार के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग की। इस पर सभी महिला पार्षद एकजुट दिखीं। इस बीच ममता बोलीं कि रेखाजी सीधी पार्षद हैं। यदि कोई नेता होता तो अपमान पर वहीं पेट्रोल लेकर बैठ जाता। महापौर संयुक्ता भाटिया ने कहा कि वह पुलिस कमिश्नर को पत्र लिखेंगी।

…अब घबराइए कि आप लखनऊ में हैं

स्मार्ट सिटी योजना के तहत कैसरबाग, लालबाग, गोलागंज, अमीनाबाद सहित अन्य इलाकों में खुदी सड़कों को लेकर मशकगंज-वजीरगंज वार्ड की पार्षद सईमा नईम ने कहा कि इस समय जो सड़कों का हाल है, उससे तो यही कहा जा रहा है- घबराइए कि आप लखनऊ में हैं। नगर आयुक्त ने कहा कि यह जल निगम का काम है, इस पर साईमा बोलीं कि जनता तो पार्षद का घर घेरती है।

निशाने पर रहे नगर आयुक्त

पार्षद वीना रावत, साधना वर्मा, ममता चौधरी आदि ने सवाल उठाया कि महिला पार्षद नगर आयुक्त से नहीं मिल पाती हैं। कई बार फोन भी नहीं उठता है। सप्ताह में एक-दो दिन नगर आयुक्त मिलने के लिए तय कर दें। इस पर नगर आयुक्त ने कहा हो सकता है कि मीटिंग में हों तो फोन न उठा हो। सुबह 11 बजे से उनसे कार्यालय में मिल सकती हैं। तय हुआ कि बुुधवार को महिला पार्षद मिल सकती हैं।

ये सवाल भी उठाए

– दौलतगंज वार्ड की पार्षद रानी कनौजिया ने कहा कि वार्ड में कूड़े का एक भी डिब्बा नहीं रखा है। नलकूप न होने से काशी विहार, दौलतगंज और मल्लाही टोला में समस्या है।

– महिलाओं के बैठने की निगम में जगह नहीं है। महिला पार्षद कक्ष में कौन बैठता है, उसकी जांच कर ली जाए।

– लाल बहादुर शास्त्री प्रथम वार्ड की प्रथम पार्षद करुणा शंकर ने कहा कि महिला सफाई कर्मियों को शासनदेश के तहत सुबह साढ़े आठ बजे काम पर बुलाया जाए।

– जानकीपुरम द्वितीय वार्ड की पार्षद खुुशबू राखी मिश्रा ने कहा कि वार्ड के आधे से ज्यादा पार्कों में मानक के तहत कर्मचारी नहीं हैं। प्रमुख सड़कें खस्ताहाल हैं। जानकी वाटिका पार्क में पिंक टॉयलेट बनाया जाए।

– भारतेंदु हरिश्चंद वार्ड की पार्षद रूपाली गुप्ता ने कहा कि शहर में छोटे-छोट कई कॉमर्शियल कॉम्प्लेकस हैं, पर वहां महिलाओं के लिए अलग टॉयलेट नहीं हैं।

– हिंद नगर वार्ड की पार्षद नेहा सौरभ सिंह ने कहा कि महिला पार्षदों, कर्मचारियों-अधिकारियों के लिए भी खेल प्रतियोगिताएं आयोजित की जाएं। हर वार्ड में सेनेटरी पैड वेंडिंग मशीनें लगाई जाएं।

– खरिका वार्ड की पार्षद पूनम मिश्रा कहा कि निगम में महिला काउंसलर रखी जाएं जो सप्ताह में दो से तीन दिन हर जोन में जाएं।

– चंद्रभानु गुप्त मोती लाल नेहरू वार्ड की पार्षद चरनजीत गांधी ने कहा कि वार्ड आर्या नगर की सड़कें खराब हैं। स्ट्रीट लाइटें भी खराब पड़ी हैं।

सर्विलांस सिस्टम से पकड़े जाएंगे छेड़छाड़ करने वाले

सदन में मांग उठी कि बाजार व अन्य प्रमुख जगहों पर कैमरे लगाए जाएं। नगर आयुक्त अजय द्विवेदी ने बताया कि सेफ सिटी योजना के तहत हाईटेक सर्विलांस कैमरे लगाए जाएंगे। इसके लिए 200 पोल लगाए जाएंगे। हर पोल पर पांच कैमरे लगेंगे। एक-एक कैमरा चारों दिशाओं में और एक ऊपर की ओर मूविंग कैमरा रहेगा। सभी पर पैनिक बटन भी लगाया जाएगा। पिंक पेट्रोलिंग गाड़ियों में मोबाइल डेटा सिस्टम भी रहेगा। कैमरों में फेस रिकग्नीशन सिस्टम भी रहेगा। इन कार्यों के लिए दस दिन में टेंडर भी जारी हो जाएंगे। महिलाओं को घूरना, उनके आगे गाड़ी से कट मारना, चेन छीनना, गाली-गलौज करने सहित 40 ऐसी क्रियाओं को शामिल किया गया है जो अपराध की श्रेणी में आएंगी।

लगाई जाए पूर्व राष्ट्रपति की प्रतिमा

जानकीपुरम प्रथम वार्ड की पार्षद शीबा चांद सिद्दीकी ने कहा कि उनके वार्ड में पूर्व राष्ट्रपति एपीजे अब्दुल कलाम के नाम पर विश्वविद्यालय है। उसके सामने उनकी प्रतिमा लगाई जाए। दस हजार की आबादी वाले वार्ड में करीब चार हजार महिलाएं हैं, पर कोई सार्वजनिक शौचालय नहीं है। एक पिंक टॉयलेट बनाया जाए।

तोहफे में एक-एक काम का भुगतान

महिला दिवस पर विकास कार्य के लिए अतिरिक्त कोटा देकर तोहफा देने की सदन में उठी मांग पर महापौर ने कोटा तो नहीं दिया, पर वादा किया कि सभी महिला पार्षद अपने वार्ड के किसी भी एक कार्य का भुगतान अपनी संस्तुति पर जल्द करा सकती हैं।

नामितों को दस-दस लाख का कोटा

नामित पार्षद संतोष तेवतिया ने सदन में कहा कि नामित पार्षदों को भी विकास कार्य का कोटा दिया जाए। इस पर पार्षद ममता चौधरी ने कहा कि ऐसा नियम नहीं है। नामित सिर्फ अपने सुझाव दे सकते हैं। इस मामले लेकर महापौर संयुक्ता भाटिया ने कहा कि वह अपने कोटे से सभी नामित पार्षदों को 10-10 लाख का कोटा देती हैं। सदन समाप्त होने के बाद महापौर की ओर से सभी महिला पार्षदों को चाट पार्टी दी गई।

ताकझांक करते रहे पार्षद पति

महिला पार्षदों के लिए ही विशेष सदन होने के कारण पुुरुष पार्षदों और पार्षद पतियों के सदन के अंदर जाने पर रोक थी, पर उनका मन नहीं मान रहा था। कई पार्षद पति सदन शुरू होने से समाप्त होने तक इधर-उधर झांकते रहे। सदन लंच के लिए स्थगित हुआ तो वह सदन के अंदर भी आ गए।

कार्यकारिणी में जाएंगे ये प्रस्ताव :

– महिलाओं के नाम पर रजिस्ट्री होने पर गृहकर व जलकर में पांच प्रतिशत की छूट का पार्षद वीना रावत का प्रस्ताव।

– भीख मांगने वाले बच्चों के लिए निगम द्वारा शिक्षा की व्यवस्था किए जाने का पार्षद हेम सनवाल का प्रस्ताव।

– महिला स्वतंत्रता संग्राम सेनानी की वीरांगनाओं के नाम पर शहर की सड़क, चौराहे का नामकरण किए जाने का पार्षद नेहा सौरभ सिंह का प्रस्ताव।

– जीजाबाई के नाम पर पार्क व सड़क नामकरण किए जाने का पार्षद कुमकुम राजपूत का प्रस्ताव।

– पार्किंग शुल्क में महिलाओं को पचास प्रतिशत की छूट का प्रस्ताव।

ये प्रस्ताव भी आए

– महिलाओं को पार्किंग शुल्क में पचास प्रतिशत की छूट दी जाए।

– महिलाओं के लिए पिंक और सुलभ शौचालय फ्री हों।

– महिला पार्षदों को 25-25 लाख रुपये का कोट विकास कार्यों के लिए अतिरिक्त दिया जाए।

– कंचना बिहारी मार्ग से दारू का ठेका हटवाया जाए

पास हुए प्रस्तावों पर होगा अमल

महापौर संयुक्ता भाटिया ने बताया कि विशेष सदन में जो भी प्रस्ताव आए हैं, उनको मंजूरी के लिए कार्यकारिणी में ले जाया जाएगा। उसके बाद जो पास होगा उस पर अमल किया जाएगा।

Most Popular