HomeलखनऊLucknow news- हनी ट्रैपिंग कर फंसाने वाले गिरोह का पर्दाफाश, व्यापारियों और...

Lucknow news- हनी ट्रैपिंग कर फंसाने वाले गिरोह का पर्दाफाश, व्यापारियों और युवाओं को बनाते थे निशाना, दो महिलाओं सहित चार गिरफ्तार

लखनऊ। व्यापारियों और रईस युवकों को हनी ट्रैपिंग से फंसाकर वसूली करने वाले गिरोह का बाजारखाला पुलिस ने खुलासा कर दो युवतियों समेत चार को दबोचा। शातिर पहले लड़कियों से सुनसान जगह पर बुलवाते, फिर पुलिस का मोनोग्राम लगी लग्जरी कार में पहुंचकर उसे धमकाकर रकम ऐंठते। गिरोह मुंबई के अलावा लखनऊ के करीब 20 लोगों को शिकार बना चुका है। बरामद गाड़ी में अशोक स्तंभ के स्टीकर के साथ विधायक का लोगो और पुलिस का मोनोग्राम, हूटर लगा था।

एडीसीपी पश्चिम राजेश श्रीवास्तव के मुताबिक सोमवार तड़के एक बिल्डर ने कंट्रोल रूम को सूचना दी कि कुछ लोगों ने पिस्तौल दिखाकर उसे लूटने का प्रयास किया। इस पर टीम ऐशबाग स्टेशन के पास पहुंची तो सुनसान जगह पर लग्जरी कार में लड़के- लड़कियां मिले। पुलिस बिल्डर के अलावा चारों को थाने लेे गई, जहां पूछताछ में मामले का खुलासा हुआ। उन्होंने बिल्डर को नौकरी के इंटरव्यू के बहाने फंसाया था। आरोपियों में मुंबई के ठाणे स्थित आकाश गंगा रोड निवासी सोहेल राजपूत, हाजी सुलेमान मोहल्ला रोड राबोड़ी निवासी फिरोज शेख, विकासनगर साई प्लाजा की रिजवाना खान उर्फ रिया खान और भाईखला हंसरोड ठाणे की नेहा मजहर अब्बास सैय्यद हैं।

ऐसे करते थे शिकार

एसीपी बाजारखाला चंद्र प्रकाश अग्रवाल के मुताबिक गिरोह कुछ दिन पहले ही मुंबई से लखनऊ आया है। इसमें शामिल युवतियां अमीर लोगों के मोबाइल नंबर हासिल कर पहले बातचीत करती। फिर वीडियो कॉलिंग के साथ अश्लील चैटिंग का सिलसिला शुरू होता। शिकार जाल में फंस जाता तो मुलाकात के बहाने उसे सुनसान स्थान पर बुलाया जाता, जहां युवतियां उससे अश्लील हरकतें करतीं। इस बीच इनके साथी दूसरी कार से पहुंचते और सार्वजनिक स्थान पर अश्लील हरकतें करने की बात कहकर धमकाते। फिर सोशल मीडिया पर वीडियो व फोटो वायरल करने की धमकी देकर रुपये ऐंठते। पुलिस का मोनोग्राम लगी गाड़ी देखकर लोग घबरा जाते और जो रकम होती दे देते। वहीं, पैसे न देने पर बदमाश पिटाई करते और पिस्तौलनुमा लाइटर दिखाकर गोली मारने की धमकी भी देते। पुलिस ने चारों से लग्जरी कार, लाइटरनुमा पिस्तौल भी बरामद की है। पुलिस लखनऊ में गिरोह के शिकार हुए लोगों की जानकारी जुटा रही है।

कार पर अशोक स्तंभ, विधायक का स्टीकर

प्रभारी निरीक्षक बाजारखाला धनंजय सिंह के मुताबिक बरामद लग्जरी कार पर अशोक स्तंभ का स्टीकर लगा था। साथ ही विधायक और पुलिस का मोनोग्राम लगा था। लोगों को अर्दब में लेने के लिए कार पर हूटर भी लगवा रखा था।

पैसेवालों के बेटे होते थे निशाने पर

पूछताछ में पता चला कि गिरोह का मास्टर माइंड सोहेल राजपूत है। महिला सिपाहियों को युवतियों ने बताया कि सोहेल ने ही उन्हें लोगों को फंसाना सिखाया। उसने कहा था कि वह मुुंबई में ऐसा कई बार कर चुका है। अब कुछ दिन लखनऊ चलकर लोगों को फंसाते हैं। आरोपियों ने यहां ठाकुरगंज के दुबग्गा के पास ठिकाना बनाया था। पुलिस इसकी जानकारी जुटा रही है। सोहेल ने बताया कि उसके निशाने पर कारोबारी, चिकित्सक, अधिकारी और पूंजीपतियाें के बेटे होते हैं। इनका नंबर हासिल कर चैटिंग कर फंसाया जाता है।

थाने पर किया हंगामा

थाने में सोहेल खुद को पुलिसकर्मी बताते हुए हंगामा करने लगा। कहा कि अभी मुंबई के पुलिस कमिश्नर की कॉल आएगी और तुमको छोड़ना पड़ेगा। यह भी कहा कि वह महाराष्ट्र सरकार के कई मंत्रियों व विधायकों को जानता है। यूपी में भी कई मंत्री उसके परिचित हैं। उसे ज्यादा देर थाने में नहीं रोक सकते, लेकिन पुलिस की सख्ती के आगे उसकी एक न चली। वहीं, बिल्डर से अवैध वसूली की जानकारी पर व्यापारी नेता थाने पहुंच गए।

बढ़ाई जाएंगी कई और संगीन धाराएं

प्रभारी निरीक्षक धनंजय सिंह के मुताबिक आरोपियों के खिलाफ कई और संगीन धाराएं बढ़ाई जाएंगी। पुलिस इसका भी पता लगा रही कि अशोक स्तंभ, पुलिस का मोनोग्राम, विधायक का स्टीकर और हूटर कहां से लिया और किसके आदेश पर लगवाया। आरोपियों के खिलाफ जाली दस्तावेज तैयार करने व सरकारी स्टीकर का दुरुपयोग करने की धाराएं बढ़ाई जाएंगी।

Most Popular