HomeलखनऊLucknow news - हाथरस केस पर UP विधानसभा में हंगामा: CM योगी...

Lucknow news – हाथरस केस पर UP विधानसभा में हंगामा: CM योगी बोले- हर अपराधी के साथ समाजवादी शब्द क्यों जुड़ जाता है? हाथरस में भी टोपी की दुर्गति हुई

विधानसभा में बोलते सीएम योगी आदित्यनाथ।

विधानसभा में बजट पर विपक्ष के सवालों का जवाब दे रहे थे सीएम योगीइस दौरान हंगामा होने पर योगी ने हाथरस कांड के लिए सपा को जिम्मेदार ठहराया

उत्तर प्रदेश विधानसभा में बुधवार को विपक्ष ने हाथरस में छेड़खानी का शिकार लड़की के पिता की गोली मारकर हत्या किए जाने के मामले को लेकर जमकर हंगामा किया। इस पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने हाथरस केस के लिए समाजवादी पार्टी को सीधे तौर पर जिम्मेदार ठहराया। पूछा कि हर अपराधी के साथ समाजवादी शब्द क्यों जुड़ जाता है? सोशल मीडिया में दिनभर चल रहा था कि ये टोपी वाला कौन है? हाथरस की घटना ने इस टोपी को फिर से कटघरे में खड़ा कर दिया है। कल जो दुर्भायपूर्ण घटना हुई क्या उसमें समाजवादी पार्टी का उन अपराधियों से कोई संबंध नहीं है? उस अपराधी के बैनर-पोस्टर सपा के नेताओं के साथ लगाए गए हैं। ये क्या साबित करता है?

बजट में हर वर्ग का रखा गया ख्याल

दरअसल, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ बजट पर उठ रहे विपक्ष के सवालों पर जवाब दे रहे थे। लेकिन समाजवादी पार्टी व अन्य विपक्षी दलों ने हंगामा शुरू कर दिया। योगी ने कहा कि बजट स्वावलंबन से सशक्तिकरण पर आधारित है। किसान, युवा, कर्मचारी, उद्योग, बेरोजगारों सबके लिए बजट में जगह है। 2016 में 3.3% राजकीय कोषीय घाटा था। हम उसको 2.9% तक लाने में सफल रहे। हमने प्रदेश के अंदर फिजूलखर्ची को रोका है। 2016- 17 में फिजूलखर्ची 30% थी, हम इसको 28.1% तक लाने में सफल हुए हैं।

हम वोट के साथ विकास पर भी जोर दे रहे

योगी ने कहा कि सपा के कार्यकाल में प्रदेश के विकास का कोई दृष्टिकोण नहीं था। हमने विकास का रोड मैप बना कर काम किया है। स्वास्थ्य क्षेत्र के विशेषज्ञों ने भी बजट की बड़ाई की, जिनको राजनीति से लेना देना नहीं है। मुख्यमंत्री सुपोषण योजना, मुख्यमंत्री सुमंगला योजना उत्तर प्रदेश के विकास में मील का पत्थर साबित हुए हैं। पिछले चार साल में वो सभी काम रास्ते पर आ रहे है जो कई सालों से नहीं हुआ। हम वोट के साथ विकास पर भी जोर दे रहे हैं।

कभी UP बीमारु कहा जाता थामुख्यमंत्री ने कहा कि पहले प्रदेश को बीमारु राज्य कहा जाता था। क्योंकि 22 करोड़ की आबादी में 2 लाख करोड़ का बजट पहले सरकार देती थी। जिससे विकास संभव नहीं था। 2015-16 में ईज ऑफ डूइंग बिजनेस में प्रदेश 14वें स्थान पर था, आज प्रदेश दूसरे स्थान पर है। हमने लोगो के मन में विश्वास पैदा किया है। 2015-16 में उत्तर प्रदेश देश की अर्थव्यवस्था 5वें नंबर पर थी, GDP 10लाख 90 हजार करोड़ थी। 4 वर्ष के अंदर उत्तर प्रदेश देश की दूसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था है। 4 साल में हमने 21 लाख 73 हजार करोड़ की GDP उत्तर प्रदेश की है। सीएम योगी ने कहा कि 2022 में जब हम वापस आएंगे तो उत्तर प्रदेश को देश की सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था होगी।

विधानसभा में विपक्ष के सवालों का जवाब देते मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ।

विधानसभा में विपक्ष के सवालों का जवाब देते मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ।

पहले से हो रही कांट्रैक्ट फार्मिंग मगर किसी की भूमि नहीं गई

योगी ने कहा कि कॉन्ट्रैक्ट फार्मिंग का काम लंबे समय से हो रहा है। पहले किसान कागजों पर लिख कर कॉन्ट्रैक्ट कर लेते थे। फिर स्टाम्प पर होने लगा। लेकिन इन सभी में किसान का खेत कभी नहीं गया। समय के साथ सभी को जोड़ने का प्रयास सरकार कर रही है। कई योजनाओं से किसानों की आय बढ़ाई जा रही है। कोरोना काल में भी हमने किसानों के लिए चीनी मीलों को चलाया। इस सीजन में हमने 10,757 करोड़ का गन्ना किसानों का भुगतान किया है। ये मिल बेच रहे थे, बंद कर रहे थे, वो किसान हितैषी बन रहे हैं।

खबरें और भी हैं…

Most Popular