HomeलखनऊLucknow news - ED ने दर्ज किया मनी लांड्रिंग का केस: इटली...

Lucknow news – ED ने दर्ज किया मनी लांड्रिंग का केस: इटली में तैनात IFS निहारिका सिंह और उनके पति कसा कानून का शिकंजा, ठगी कर 600 करोड़ की संपत्ति बनाई

IFS निहारिका सिंह कंपनी के कार्यक्रमों में पहुंचती थीं और अपने पद का हवाला देते हुए निवेश सही सलामत रहने का दावा करती थी। - Dainik Bhaskar

IFS निहारिका सिंह कंपनी के कार्यक्रमों में पहुंचती थीं और अपने पद का हवाला देते हुए निवेश सही सलामत रहने का दावा करती थी।

अनी बुलियन कंपनी के संचालक हैं अजीत और निहारिका, 2010 में बनाई थी कंपनीठगी के आरोप में यूपी STF ने बीते साल अजीत गुप्ता को लखनऊ से किया था गिरफ्तार

इटली में तैनात IFS (इंडियन फॉरेन सर्विसेस) निहारिका सिंह और उसके पति अजीत गुप्ता पर प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने शुक्रवार को मनी लांड्रिंग का केस दर्ज किया है। आरोप है कि निहारिका सिंह ने पति अजीत के साथ मिलकर अनी बुलियन कंपनी बनाई। इसके बाद अयोध्या समेत प्रदेश के कई जिलों में हजारों लोगों को दो गुना लाभ का लालच देकर करोड़ो रुपए हड़प लिए। इस तरह ठगी कर अजीत ने 600 करोड़ से ज्यादा की संपत्ति बना ली।

इस मामले में अनी बुलियन कंपनी के डायरेक्टर अजीत गुप्ता समेत कंपनी के सदस्यों के खिलाफ सैकड़ों की संख्या FIR प्रदेश के विभिन्न थानों में दर्ज हैं। यूपी STF ने बीते साल जुलाई माह में डायरेक्टर अजीत गुप्ता को लखनऊ के PGI इलाके से गिरफ्तार किया था।

40% प्रॉफिट कर दिया गया था लालचअनी बुलियन कंपनी ने प्रदेश में ऐसा जाल बिछाया था कि एक के बाद एक कई लोग झांसे में आते चले गए। विदेश सेवा में तैनात पत्नी निहारिका सिंह की राजनेताओं से करीबी का कंपनी के MD अजीत गुप्ता ने भरपूर फायदा उठाया था। निवेश के बदले हर साल 40 प्रतिशत मुनाफा देने का दावा किया जाता था। IFS निहारिका सिंह कंपनी के कार्यक्रमों में पहुंचती थीं और अपने पद का हवाला देते हुए निवेश सही सलामत रहने का दावा करती थी। देश व प्रदेश के बड़े राजनेताओं के साथ पत्नी की फोटो दिखाकर कंपनी के MD ने सैकड़ों किसानों से करोड़ों की ठगी की थी।

अनी बुलियन कंपनी में लोगों का ज्यादा से ज्यादा रुपया निवेश कराने वाले एजेंट को लाखों रुपए कीमत का फ्लैट और महंगी कार भी कंपनी देती थी। कंपनी में निवेश करने वालों ने बताया कि दो-तीन माह में लखनऊ अथवा जिला मुख्यालय पर कंपनी की मीटिंग होती थी। मीटिंग में कंपनी का MD उन एजेंटों को कार अथवा फ्लैट की चाबी सौंपता था, जो ज्यादा से ज्यादा रुपए निवेश कराते थे।

600 करोड़ के ठगी करके बनाया साम्राज्यअयोध्या का मूलतः रहने वाला कंपनी का डायरेक्टर अजीत कुमार गुप्ता ने साल 2010 में एनी बुलियन नाम से कंपनी बनाई थी, जिसमें उसने सोना, चांदी, हीरा और सिक्कों का कारोबार दर्शाया था। लेकिन कंपनी की ओर से कोई काम नहीं किया जाता था। बीते साल जेल जाने से पहले अजीत गुप्ता ने STF की पूछताछ में बताया कि उसने कंपनी और अपनी पत्नी के पद का फायदा उठाते हुए करीब 600 करोड़ रुपए का कारोबार खड़ा किया हैं।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ IFS निहारिका सिंह की फोटो।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ IFS निहारिका सिंह की फोटो।

कंपनी डायरेक्टर समेत इन लोगों के खिलाफ दर्ज है FIRगोमतीनगर स्थित विराटखंड निवासी अजीत कुमार गुप्ता, IFS निहारिका सिंह, अयोध्या निवासी संतोष कुमार, अंजनी कौशल, शिव कुमार गोस्वामी, अजय उपाध्याय, धर्मेंद्र कौशल, मंजू कौशल, वासुदेव कौशल, आशीष तिवारी, ओमशंकर कौशल, नीलम कौशल धरनीधर उपाध्याय, राम गोपाल गुप्ता और विष्णु गुप्ता के खिलाफ ठगी समेत अन्य अन्य धाराओं में अयोध्या, सुल्तानपुर, बाराबंकी, लखनऊ व अन्य जिलों में सैकड़ों FIR दर्ज है।

खबरें और भी हैं…

Most Popular