Home लखनऊ Lucknow news- MLC चुनाव: लखनऊ स्नातक सीट पर भाजपा प्रत्याशी अवनीश ने...

Lucknow news- MLC चुनाव: लखनऊ स्नातक सीट पर भाजपा प्रत्याशी अवनीश ने निर्दलीय प्रत्याशी को छह हजार वोटों से हराया

लखनऊ स्नातक सीट पर भाजपा प्रत्याशी अवनीश कुमार सिंह ने आठवें राउंड तक कड़ी टक्कर देने वाली निर्दलीय प्रत्याशी कांति सिंह को छह हजार वोटों के अंतर से हरा दिया है।

जीत की घोषणा द्वितीय वरीयता के वोटों की गणना के बाद हुई। भाजपा के अवनीश कुमार सिंह को सबसे ज्यादा 39588 मत प्राप्त हुए जबकि निर्दलीय उम्मीदवार कांति सिंह को 33185 वोट प्राप्त हुए। इसके साथ ही स्नातक निर्वाचन क्षेत्र से विधान परिषद की पांच में तीन सीटों पर भाजप व दो सीटों पर सपा को जीत मिली है।

वाराणसी स्नातक सीट पर सपा के आशुतोष सिन्हा ने भाजपा के केदारनाथ सिंह को 3850 मतों से हराकर जीत दर्ज की। सिन्हा को 26,535 और केदारनाथ सिंह को 22,685 मत मिले। आगरा में भाजपा के मानवेंद्र प्रताप सिंह ने सपा उम्मीदवार असीम यादव को 6095 मतों से हराया। मानवेंद्र को 40,070 और असीम को 33,975 मत मिले।

वहीं, इलाहाबाद-झांसी स्नातक सीट पर सपा के डॉ. मानसिंह यादव ने भाजपा के डॉ. यज्ञदत्त शर्मा को 4333 मतों से हराया। मानसिंह को 23,093 और यज्ञदत्त को 18,760 मत मिले। वहीं, मेरठ स्नातक सीट भाजपा के डॉ. दिनेश गोयल ने जीत ली है। उन्होंने निकटतम प्रतिद्वंद्वी हेमसिंह पुंडीर को 28,769 मतों से पराजित किया।

गड़बड़ी को लेकर हंगामा, कांति व भाजपा के मतगणना एजेंट भिड़े

वहीं शनिवार को भाजपा प्रत्याशी की बढ़त के बाद बीती देर रात निर्दलीय प्रत्याशी कांति सिंह के समर्थकों ने मतगणना में अफसरों पर गड़बड़ी बरतने का आरोप लगाते हुए हंगामा किया। इसे लेकर भाजपा व कांति के मतगणना एजेंटों में तीखी नोक-झोंक व धक्का मुक्की भी हुई।

कांति के मतगणना एजेंटों का आरोप था कि अमान्य होने वाले मतों को भी भाजपा प्रत्याशी की जीत के लिए आपत्ति के बाद भी गिनती में शामिल किया जा रहा है। कांति सिंह ने आरोप लगाया कि प्रशासन ने उनके चार हजार से अधिक मान्य वोट को अमान्य वोट के रूप में गिनती से अलग कर दिया और भाजपा के अमान्य को वैलिड मान गिनती में शामिल किया। इसकी लिखित शिकायत भी दर्ज कराई गई है।

निर्दलीय प्रत्याशी कांति सिंह ने बताया कि जब उनके मतगणना एजेंटों ने इस पर विरोध जताया तो पुलिस प्रशासन के अफसरों के सामने भाजपा समर्थकों ने अभद्रता कर हाथापाई की। इसमें उनके एक समर्थक को चोट भी आई। दूसरी तरफ, जिला निर्वाचन अधिकारी व डीएम अभिषेक प्रकाश ने प्रशासन पर लगे आरोप को निराधार बताते हुए कहा कि पूरे गणना कार्य की फोटोग्राफी और वीडियोग्राफी हो रही है। इस दौरान मारपीट की कोई घटना किसी के साथ भी नहीं हुई।

आगे पढ़ें

गड़बड़ी को लेकर हंगामा, कांति व भाजपा के मतगणना एजेंट भिड़े

Most Popular