HomeलखनऊLucknow news - UP में कोरोना की चपेट में आ रहे दिग्गज:...

Lucknow news – UP में कोरोना की चपेट में आ रहे दिग्गज: पूर्व CM अखिलेश यादव की टेस्ट रिपोर्ट पॉजिटिव आई, कहा- जो लोग सम्पर्क में आएं हों वो अपनी जांच कराएं

यूपी के पूर्व सीएम अखिलेश यादव

उत्तर प्रदेश में कोरोना वायरस का प्रकोप लगातार बढ़ रहा है। राजधानी लखनऊ समेत कई जिलों में कोरोना मरीजों की तादात इतनी बढ़ गई है कि अस्पतालों के बेड भर गए हैं। सरकार के इंतजाम भी कोरोना की इस खतरनाकर लहर में कम पड़ रहे हैं। इस बीच पूर्व सीएम अखिलेश यादव भी कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। इसकी जानकारी उन्होंने खुद सोशल मीडिया पर दी है।

अखिलेश यादव ने अपनी रिपोर्ट की जानकारी देते हुए कहा, अभी-अभी मेरी कोरोना टेस्ट की रिपोर्ट पॉज़िटिव आई है। मैंने अपने आपको सबसे अलग कर लिया है व घर पर ही उपचार शुरू हो गया है। पिछले कुछ दिनों में जो लोग मेरे संपर्क में आये हैं, उन सबसे विनम्र आग्रह है कि वो भी जांच करा लें। उन सभी से कुछ दिनों तक आइसोलेशन में रहने की विनती भी है।

अखिलेश यादव ने मंगलवार को कराया था टेस्ट

अखिलेश यादव ने कोरोना टेस्ट कराते हुए अपनी तस्वीर ट्विटर पर शेयर की। इसके साथ उन्होंने लिखा कि ”यूपी में कोरोना से जो हाहाकार मचा है उसके लिए भाजपा सरकार को जवाब देना होगा कि उसने कोरोना पर नियंत्रण पाने का झूठा ढिंढोरा क्यों पीटा। टीका, टेस्ट, डॉक्टर, बेड, एंबुलेंस की कमी, टेस्ट रिपोर्ट में देरी व दवाई की काला बाज़ारी पर भाजपा सरकार चुप क्यों है। स्टार प्रचारक कहां हैं?”

MBBS के चौथे और पांचवें सेमेस्टर के छात्र करेंगे कोविड-19 का इलाजउत्तर प्रदेश में कोरोना के बढ़ते मामले को देख लेते हुए सरकार ने यह फैसला किया है कि, कोरोना के मरीज़ों के इलाज करने के लिये MBBS के 4th-5th वर्ष के छात्रों को भी कोविड ड्यूटी पर लगाया जायेगा। कोविड के इलाज के लिये साधनो को बेहतर बनाने के लिये निजी अस्पतालों व प्रयोगशालाओं को अधिग्रहीत करने पर फ़ैसला किया है। MBBS परीक्षा निरस्त होने के कारण ड्यूटी हॉस्पिटलों में लगाए जाने का निर्णय लिया गया है।

कोविड प्रोटोकॉल में लक्षण खत्म होने के बाद मरीज किए जाएंगे डिस्चार्जउत्तर प्रदेश का स्वास्थ्य विभाग बना रहा नया कोविड प्रोटोकाल अब कोविड के लक्षण खत्म होते ही कर सकेंगे। मरीजों को डिस्चार्ज, होंम आईसोलेशन में भेजे जाएंगे। कोविड मरीज, कोविड मरीजो को बेड उपलब्ध करानें के लिये सरकार लगातार अपना रही है। नई रणनीति, नए प्रोटोकाल में कम मैन पावर में ज्यादा से ज्यादा मरीजो को मिल सकेगा उपचार, सप्ताह भर के अंदर इसे लागू किया जा सकता है।

दरअसल, अभी अस्पताल में भर्ती बिना कोविड लक्षण वाले मरीजो को 7 से 10 दिन बाद किया जाता है डिस्चार्ज, कोविड से संक्रमित मरीजो को लक्षण खत्म होने ने 7 दिन बाद अथवा आरटीपीसीआर रिपोर्ट नेगेटिव आनें के बाद डिस्चार्ज किया जाता है।

नये प्रोटोकाल के तहत लक्षण मिलने वाले मरीजो को भर्ती के बाद यदि लक्षण खत्म हो जाते हैं तो उन्हें भी 3 से 4 दिन में डिस्चार्ज किया जाएगा। ऐसे मरीजों के लिए होम आइसोलेशन 14 दिन से बढ़ाकर 21 दिनों के लिये किया जा सकता है।

खबरें और भी हैं…

Most Popular