Home लखनऊ Lucknow news - UP में 1 साल बाद स्कूल हुए अनलॉक: टीचर्स...

Lucknow news – UP में 1 साल बाद स्कूल हुए अनलॉक: टीचर्स ने बच्चों का तिलक कर दिया वेलकम गिफ्ट; रंगोली और गुब्बारों से हुई सजावट, CM योगी ने भी देखा स्कूल

यह फोटो लखनऊ के नरही स्थित सरकारी अस्पताल की है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने विद्यालय में कोविड-19 प्रोटोकॉल की व्यवस्था का जायजा लिया। कुछ वक्त बच्चों के संग भी बिताया।

कक्षा एक से पांच तक के स्कूल खोले गए, हाथ सैनिटाइज करने के बाद मापा गया टेंपरेचरएक साल बाद स्कूल आकर काफी खुश दिखे बच्चे, बोले- दोस्तों और शिक्षकों से मिलकर काफी अच्छा लगा

उत्तर प्रदेश में कक्षा 1 से 5 तक के बच्चों के लिए आज यानी सोमवार से स्कूल खुल गए। कोरोना महामारी के चलते बीते साल मार्च माह में स्कूल बंद हुए थे। ऐसे में बच्चों और शिक्षकों में काफी उत्साह नजर आया। सुबह जब बच्चे स्कूल पहुंचे तो उनका तिलक कर स्वागत किया गया। इस दौरान कहीं स्कूलों को रंग-बिरंगे गुब्बारों से सजाया गया था तो कहीं स्कूल गेट पर रंगोली भी बनाई गई थी। स्कूलों में कोविड-19 प्रोटोकॉल के तहत विशेष इंतजाम किए गए हैं। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने लखनऊ में नरही स्थित सरकारी स्कूल का निरीक्षण कर व्यवस्थाओं का जायजा लिया।

सोशल डिस्टेंसिंग के साथ क्लास में बैठे बच्चे।

सोशल डिस्टेंसिंग के साथ क्लास में बैठे बच्चे।

फैजान बोला- आज मेरे सबसे अच्छे दोस्त से हुई मुलाकातकक्षा 1 से 5वीं तक के सरकारी स्कूल और प्राइवेट स्कूल में पहले दिन 50% बच्चे बुलाए गए हैं। बीकेटी के उच्च प्राथमिक विद्यालय सरैया में बच्चों की स्क्रीनिंग की गई। सैनिटाइजर से हाथ साफ कराने के बाद रोली का टीका लगाकर और टॉफी देकर बच्चों का स्कूल में स्वागत किया गया। प्राथमिक विद्यालय भेड़ीमंडी छितवापुर के प्राथमिक विद्यालय में दूसरी क्लास के फैजान ने कहा, ‘मैं आज बहुत दिनों बाद स्कूल आया और अपने सबसे प्यारे दोस्त विशाल से मुलाकात की है।’

नरही स्थित सरकारी विद्यालय में सीएम योगी ने बच्चों से की बात।

नरही स्थित सरकारी विद्यालय में सीएम योगी ने बच्चों से की बात।

ऐसे बुलाए जाएंगे बच्चे

दिनकक्षासोमवार, गुरुवारकक्षा एक और 5मंगलवार, शुक्रवारकक्षा 2 और 4बुधवार, शनिवारकक्षा 3तिलक लगाकर बच्चों का स्कूल में किया गया स्वागत।

तिलक लगाकर बच्चों का स्कूल में किया गया स्वागत।

सरकारी स्कूलों में बच्चों की उपस्थिति कम रही

बख्शी का तालाब क्षेत्र में स्थित उच्च प्राथमिक विद्यालय सरैया में शिक्षकों ने स्कूल आने वाले बच्चों का विशेष तौर पर स्वागत किया। स्कूल में सोशल डिस्टेंसिंग के साथ बच्चों को एंट्री कराई गई, उसके बाद हाथ सैनिटाइज कराए गए। माथे पर टीका लगाया गया और टॉफी खिलाकर उनका स्कूल में स्वागत किया गया।चारबाग स्टेशन रोड पर खेड़ी मंडी प्राथमिक विद्यालय है। सुबह स्कूल खुलने का समय है 9:00 बजे था। 9:30 बजे तक कोई भी बच्चा स्कूल में नहीं आया। विद्यालय में बैठी तीन शिक्षिकाओं ने अपने-अपने मोबाइल नंबर से बच्चों के पैरंट्स से फोन पर बात करना शुरू किया। जिसके बाद करीब 10:00 बजे दो-तीन बच्चे ड्रेस में पहुंचे।भेड़ी मंडी स्कूल से करीब 800 मीटर दूर जितवारपुर प्राथमिक विद्यालय में बच्चों की संख्या 7 के करीब थी। प्रिंसिपल ने बताया हमारे यहां कुल 35 बच्चों की संख्या है। पहले दिन 50% बच्चों को बुलाया गया है। क्लास सेकंड में पढ़ने वाली कुलसुम कहती हैं कि स्कूल आने का बड़ा मन होता था। मुझे अपने दोस्तों की याद आती थी। स्कूल में पढ़ने का मन करता था, मैं पापा-मम्मी से पूछती भी थी। स्कूल की अध्यापिका ने कहा कि कोविड प्रोटोकॉल का पूरा कर करवा रही हूं।स्कूल गेट पर बनाई गई रंगोली।

स्कूल गेट पर बनाई गई रंगोली।

सिटी मांटेसरी स्कूल में सोशल डिस्टेंसिंग के बीच बच्चों ने शुरू की पढ़ाईस्टेशन रोड स्थित सिटी मांटेसरी स्कूल में आज से कक्षा 1 से पांचवी तक के बच्चों ने पढ़ाई शुरू की। प्रशस्ति तिवारी क्लास थर्ड में पढ़ती हैं। प्रशस्ति कहती हैं कि मैं बहुत ही अच्छा फील कर रही हूं। टीचर्स के मिलकर बहुत खुशी हुई। अपने फ्रेंड्स से भी मुलाकात की है। ध्रुविका बताती हैं कि आज मैं पहले दिन स्कूल आई हूं। कई सवाल ऐसे थे जो मुझे टीचर से आज पूछने का मौका मिला। मैं बहुत खुश हूं। वहीं, स्टेशन रोड CMS की प्रिंसिपल वीरा हजेला का कहना है कि जब 9th 12th के क्लासेज शुरू हुए, तब से पैरंट्स हमसे पूछते थे कि प्राइमरी बच्चों की क्लासेज कब शुरू होंगे। पैरंट्स बच्चों को लेकर काफी अवेयर हैं और वह अपने बच्चों को पढ़ाने के लिए चिंतित दिखाई पड़ते थे। हमारे यहां सभी प्रकार के कोविड-19 लालन किया जाता है।

सिटी मांटेसरी स्कूल में सोशल डिस्टेंसिंग के साथ क्लास में बैठे बच्चे।

सिटी मांटेसरी स्कूल में सोशल डिस्टेंसिंग के साथ क्लास में बैठे बच्चे।

खबरें और भी हैं…

Most Popular