HomeलखनऊLucknow news - UP में 22,556 मरीज ठीक होकर घर लौटे: कोरोना...

Lucknow news – UP में 22,556 मरीज ठीक होकर घर लौटे: कोरोना प्रोटोकॉल के साथ खुले रहेंगे औद्योगिक एरिया; 24 घंटे में 37, 238 कोरोना के केस मिले, 199 लोगों ने दम तोड़ा

सुखद बात यह है कि 22556 मरीज ठीक हो� - Dainik Bhaskar

सुखद बात यह है कि 22556 मरीज ठीक हो�

कोरोना कर्फ्यू के दौरान अस्पतालों में कोविड टीकाकरण के लिए आने जाने वाले व्यक्तियों को छूट मिलेगी

उत्तर प्रदेश में बीते 24 घंटे के अंदर 37,238 नए केस सामने आए हैं जबकि इसी दौरान 199 संक्रमित लोगों की मौत हुई है। मरने वालों का आंकड़ा 10737 से पहुंच गया है। प्रदेश में मौजूदा समय में 273653 मरीज एक्टिव हैं। सुखद बात यह है कि 22556 मरीज ठीक होकर अपने घर लौटे हैं, जिसमें लखनऊ में रिकॉर्ड 7165 मरीज ठीक हुए हैं। लखनऊ में 53,475 केस एक्टिव हैं। इस बीच, प्रदेश सरकार ने औद्योगिक क्षेत्र खोले जाने के संबंध में दिशा-निर्देश जारी किया है। उन्होंने कोविड-19 काल के तहत औद्योगिक क्षेत्रों को सुचारू रूप से चलाए जाने के निर्देश दिए हैं।

प्रदेश की राजधानी लखनऊ में कोरोनावायरस के मिलने का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है। बीते 24 घंटे के अंदर 5,682 नए केस मिले हैं। 14 की मौत हुई हैं। लखनऊ में सुखद बात यह है कि, रिकॉर्ड 7165 मरीज ठीक होकर अपने घर गए हैं। फिलहाल लखनऊ में 53,475 केस एक्टिव हैं मरने वालों की संख्या लखनऊ में सरकारी आंकड़ों के अनुसार 1598 पहुंच गई है। हालांकि भैसा कुंड से लेकर लखनऊ के चार श्मशान घाटों पर लाश से जलने का सिलसिला जारी है।

प्रदेश 5 शहरों में कोरोना केस की रफ्तार बढ़ी

कोरोना वायरस का तांडव लगातार जारी है प्रदेश पर एक दिन में 199 मौतों का यह सर्वाधिक आंकड़ा है। लखनऊ के बाद कोरोनावायरस अब से प्रभावित शहर प्रयागराज बनता जा रहा है। जहां पर बीते 24 घंटे के अंदर 1954 नए केस मिले और 12 मरीजों की मौत हो गई।

कानपुर नगर में अपना संक्रमण बढ़ाते चला जा रहा है। कानपुर में 1993 नए केस मिले तो वहीं 9 कोरोना संक्रमित की मौत हुई है। प्रधानमंत्री के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में 1483 नए केस मिले 10 की मौत हुई हैं। मेरठ में 1361, नोएडा में 1064 वहीं 9 मरीजों की मौत हुई है। इसके अलावा बरेली में 1221 और झांसी में 1084, मुरादाबाद में 1064, चंदौली 610 नए मिले में 10 मरीजों की मौत हुई।

लॉक डाउन में खुले रहेंगे खाद्य पदार्थ उत्पादन की इकाइयां

सरकार की साप्ताहिक बंदी शनिवार और रविवार को भी खाद्य पदार्थ उत्पादन इकाइयां और गेहूं क्रय केंद्र खुले रहेंगे। शासन ने कोरोना प्रोटोकॉल के पालन करने पर ही इन चीजों के खुले रहने की छूट दी है। शासन ने जारी आदेश में कहां है की पूरे प्रदेश में साप्ताहिक बंदी शनिवार और इतवार को पूर्णतया लॉकडाउन रहेगा लेकिन जरूरी चीजों की आपूर्ति जारी रहेगी।

लॉकडाउन में प्रदेश में सभी गेहूं क्रय केंद्र खुले रहेंगे और खाद्य पदार्थ के उत्पादन की सभी इकाइयां भी सुचारू रूप से चलती रहेंगी हालांकि इस दौरान चालू इकाइयों में कोरोना प्रोटोकॉल का पालन करना पड़ेगा । साथ ही वहां काम करने वाले कर्मचारी अधिकारियों की बराबर कोविड जांच करनी होगी। सभी जगहों पर हैंड सैनिटाइजर मास्क अनिवार्य होगा।

सीएम योगी के साथ टीम-11 की बैठक में ये लिए गए फैसले

प्रदेश में ऑक्सीजन की सुचारु उपलब्धता सुनिश्चित कराई जा रही है। इसी क्रम में आज ऑक्सीजन आपूर्ति व्यवस्था की लाइव मॉनिटरिंग के लिए वेब पोर्टल का शुभारंभ किया गया है। यह ऑक्सीट्रैकर पोर्टल ऑक्सीजन की मांग, कुल आवंटन, गाड़ियों की लाइव लोकेशन, जिलों में उपलब्धता व खपत सहित सभी आवश्यक जानकारी से अपडेट रहेगा।शुक्रवार रात्रि 08 बजे से सोमवार प्रातः 07 बजे तक साप्ताहिक कोरोना कर्फ्यू प्रभावी रहेगा। प्रदेश के सभी जिलों में इसे सख्ती से लागू किया जाए। इस अवधि में कोविड टीकाकरण का कार्य सतत जारी रहेगा। वैक्सीनेशन के लिए लोगों को आवागमन की पूरी छूट रहेगी। औद्योगिक इकाइयां सतत संचालित रहेंगी। आवश्यक सेवाओं पर कोई रोक नहीं है।भारत सरकार के सहयोग से ‘ऑक्सीजन एक्सप्रेस’ संचालित किया जा रहा है। प्रदेश के सभी जिलों के सभी छोटे-बड़े अस्पतालों में ऑक्सीजन की उपलब्धता पर 24×7 नजर रखी जाए। ऑक्सीजन की मांग और आपूर्ति में संतुलन बनाने की आवश्यकता है। ऐसे में ऑक्सीजन ऑडिट कराई जाए। जो लोग होम आइसोलेशन में इलाजरत हैं, उन्हें भी आवश्यकता के अनुसार ऑक्सीजन उपलब्ध कराया जाए। प्रदेश में कहीं भी ऑक्सीजन की कमी नहीं होने दी जाएगी।खबरें और भी हैं…

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular