Home लखनऊ Lucknow news - UP में IPS पर कसा शिकंजा: फरार चल रहे...

Lucknow news – UP में IPS पर कसा शिकंजा: फरार चल रहे महोबा के पूर्व SP मणिलाल पाटीदार के खिलाफ लुकआउट नोटिस; अब देश छोड़ नहीं भाग पाएंगे

महोबा के पूर्व SP मणिलाल पाटीदार के खिलाफ जानलेवा हमला, रंगदारी मांगने, धमकाने व आपराधिक साजिश रचने के आरोपों के तहत FIR दर्ज है।

महोबा के क्रशर कारोबारी इंद्रकांत की मौत मामले में फरार चल रहे IPS मणिलाल पाटीदार15 नवंबर को लखनऊ की स्पेशल कोर्ट ने घोषित किया था भगोड़ा, कुर्की की कार्रवाई भी चल रही

IPS मणिलाल पाटीदार की मुश्किलें कम होती नजर नहीं आ रही हैं। मणिलाल पाटीदार, महोबा के क्रशर कारोबारी इंद्रकांत त्रिपाठी पर जानलेवा हमला, रंगदारी मांगने के आरोप में फरार चल रहे हैं। अब उनके खिलाफ लुकआउट नोटिस जारी किया गया है। दरअसल, खुफिया एजेंसियों को आशंका है कि पाटीदार विदेश भाग सकते हैं। लेकिन लुकआउट नोटिस के बाद अब वे देश छोड़कर नहीं भाग पाएंगे। जल्द सरेंडर न करने पर पुलिस घर की कुर्की करेगी।

भगोड़े IPS पर 50 हजार का इनामबीते 15 नवंबर को लखनऊ की स्पेशल कोर्ट ने IPS मणिलाल पाटीदार, इंस्पेक्टर देवेंद्र शुक्ला और कांस्टेबल अरुण यादव को भगोड़ा घोषित किया था। इंस्पेक्टर देवेंद्र शुक्ला को UP STF गिरफ्तार कर चुकी है। वहीं, शासन ने IPS और कांस्टेबल पर 25-25 हजार रुपए का इनाम घोषित किया था। इसके बाद IPS पर 25 हजार का इनाम और बढ़ाकर 50 हजार कर दिया गया है। क्राइम ब्रांच के अलावा STF दोनों को गिरफ्तार करने में जुटी हैं। लेकिन अभी तक सफलता नहीं मिली है।

कुर्की की कार्रवाई भी जारी

IPS मणिलाल पाटीदार के खिलाफ 13 नवंबर को कुर्की की कार्रवाई शुरू हो चुकी है। जिसके तहत कुर्की की कार्रवाई से संबंधित 82 का नोटिस 17 नवंबर को आरोपी के घर के बाहर चस्पा किया गया है। महोबा के चरखारी थाने में तैनात SI समेत अन्य पुलिसकर्मियों की टीम ने फरार IPS के राजस्थान में डूंगरपुर जिले के थाना सगवाड़ा के सरौंदा गांव स्थित घर पर पहुंचकर नोटिस तामील कराया है।

यह है मामलादरअसल, क्रशर कारोबारी इंद्रकांत त्रिपाठी को 8 सितंबर को संदिग्ध परिस्थितियों में गोली लगी थी। करीब 5 दिन तक कानपुर के एक अस्पताल में इलाज के बाद उनकी 13 सितंबर को मौत हो गई। इससे पूर्व 7 सितंबर को इंद्रकांत ने एक वीडियो जारी कर पाटीदार पर संगीन आरोप लगाते हुए खुद की हत्या की आशंका जताई थी। आरोप लगाया था कि पाटीदार ने कारोबार करने के लिए 6 लाख रुपए की रिश्वत मांगी थी। न देने पर हत्या कराने या जेल भेजने की धमकी दी थी। इंद्रकांत की मौत के बाद उनके भाई रविकांत ने महोबा के पूर्व SP मणिलाल पाटीदार, कबरई थाने के तत्कालीन इंस्पेक्टर देवेंद्र व कांस्टेबल अरुण और दो अन्य के खिलाफ FIR दर्ज कराई थी।

Most Popular